मैक ओएस क्या हैं?

नमस्कार दोस्तों, अगर आप कंप्यूटर जैसे क्षेत्रों में रुचि रखते हैं, तो आपने अपने दैनिक जीवन में कहीं न कहीं MAC OS के बारे में सुना होगा, जिसे सुनकर हमारे मन में यह सवाल उठता है कि MAC OS का मतलब क्या होता है? मैक ओएस क्या हैंतो आपको बता दें कि यह एक प्रकार का ऑपरेटिंग सिस्टम है।

यदि आप आगे बढ़ते हैं और कंप्यूटर का उपयोग करते हैं, तकनीकी अगर आप समझना चाहते हैं तो आपको इसके बारे में पता होना चाहिए क्योंकि यह आपके करियर और आने वाली तकनीक में बहुत उपयोगी साबित होने वाला है, हालांकि यह केवल भारत में ही नहीं बल्कि दुनिया के हर व्यक्ति को इसके बारे में पता होना चाहिए।

अगर आप MAC OS को समझना चाहते हैं तो उससे पहले के ऑपरेटिंग सिस्टम कौन-कौन से हैं? अगर इसके बारे में जानना जरूरी है तो आपको बता दे की ऑपरेटिंग सिस्टम एक प्रकार का होता है सिस्टम सॉफ्ट्वेयर हमें कंप्यूटर के लिए क्या चाहिए हार्डवेयर घटक हमें एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर के साथ सहभागिता करने में मदद करता है।

पहले के जमाने में जब ऑपरेटिंग सिस्टम नहीं होते थे तब कोडिंग की मदद से कंप्यूटर के हार्डवेयर कंपोनेंट का एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर से इंटरेक्शन होता था जिसे सीखने और इस्तेमाल करने में काफी समय लगता था इसलिए ऑपरेटिंग सिस्टम का निर्माण हुआ।

अब आप ऑपरेटिंग सिस्टम को समझ गए होंगे, अब हमें इस बात पर ध्यान देना चाहिए कि मैक ऑपरेटिंग सिस्टम क्या हैं? तो चलिए अब आपको इसके बारे में विस्तार से बताते हैं।

मैक ओएस क्या हैं?

मैक ओएस का फुल फॉर्म मैकिंटोश कंप्यूटर ऑपरेटिंग सिस्टम है। यह एक प्रकार का ऑपरेटिंग सिस्टम है एप्पल इंक. के द्वारा बनाई गई सीसी +, असेंबली लैंग्वेज जैसे प्रोग्रामिंग भाषा मैंने लिखा है विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम की तरह इसके कई वर्जन भी आ चुके हैं यह ग्राफिकल यूजर इंटरफेस पर आधारित है और यूनिक्स पर आधारित ऑपरेटिंग सिस्टम है।

इस प्रकार का ऑपरेटिंग सिस्टम जो केवल मैकिंटोश कंप्यूटर लेकिन चलता ही है। इस ऑपरेटिंग सिस्टम का पहला संस्करण Apple INC द्वारा 1984 में जारी किया गया था, जिसके बाद त्रुटियों को ठीक करने और समय के साथ बदलाव लाने के लिए इसके कई बदलाव किए गए। मोजावे, बिग सुर, सिएरा, हाई सिएरा जैसे अलग-अलग संस्करण जारी किए गए।

आपको बता दें कि यह Macintosh कंप्यूटर का मुख्य ऑपरेटिंग सिस्टम है। MAC OS को बेहतर Performance के लिए पूरी तरह से Optimize किया गया है, जिसके कारण हमें अन्य कंप्यूटर ऑपरेटिंग सिस्टम की तुलना में बेहतर Performance मिलती है। मैक ओएस यूजर इंटरफेस, ग्राफिक्स, एनिमेशन वे अत्यंत चिकने हैं।

MAC OS का उपयोग हम केवल और केवल Apple के उपकरणों के साथ कर सकते हैं, जिसके कारण हमें किसी भी अन्य ऑपरेटिंग सिस्टम की तुलना में Mac OS में बेहतर गति और सटीकता के साथ समस्या को हल करने की अधिक क्षमता प्राप्त होती है।

मैक ऑपरेटिंग सिस्टम का इतिहास

अगर हम Mac OS के इतिहास की बात करें तो जिस समय पहला Macintosh कंप्यूटर जारी किया गया था, उस समय 1984 में पहला Mac ऑपरेटिंग सिस्टम जारी किया गया था, जो Macintosh कंप्यूटर के साथ एम्बेडेड था, यह एक अलग ऑपरेटिंग सिस्टम नहीं था। उसके बाद, समय-समय पर और संस्करण जारी किए गए।

जिसके बाद Apple INC. ने 2001 में इसका पहला Desktop Version MAC OS जारी किया जिसे MAC OS X नाम दिया गया। इस ऑपरेटिंग सिस्टम को C, C++, Swift, Assembly Language, Objective-C जैसी प्रोग्रामिंग भाषाओं में लिखा गया था। फिर भी हम इसे केवल Apple के कंप्यूटरों में ही इस्तेमाल कर सकते हैं।

इसके बाद समय-समय पर इसकी त्रुटियों को ठीक करने और नई सुविधाओं को जोड़ने के लिए नए संस्करण जारी किए गए।

मैक ओएस बनाम विंडोज़

अब तक के सबसे ज्यादा इस्तेमाल किये जाने वाले ऑपरेटिंग सिस्टम की बात करें तो सबसे पहले Windows और उसके बाद MAC OS का नाम आता है इसलिए लोग इन दोनों के बीच के अंतर को लेकर भ्रमित हैं तो इनके अंतर इस प्रकार हैं –

मैक ओएस खिड़कियाँ
यह एक ऐसा ऑपरेटिंग सिस्टम है जिसे हम केवल Macintosh कंप्यूटर पर ही चला सकते हैं। यह एक ऐसा ऑपरेटिंग सिस्टम है जिसे हम आने वाले सभी प्रकार के कंप्यूटर में चला सकते हैं।
ये कॉफ़ी महँगी हैं क्योंकि यह केवल Macintosh कंप्यूटर और Macintosh हार्डवेयर पर चलती हैं जो महंगी कॉफ़ी हैं। अगर बात करें विंडोज ओएस की तो हम इसे आसानी से सस्ते कंप्यूटर पर चला सकते हैं।
मैक ओएस एक बंद वातावरण है। विंडोज ओएस एक खुला वातावरण है।
MAC OS Close Environment होने की वजह से इसमें वायरस अटैक बहुत कम होते हैं। विंडोज ओएस एक खुला वातावरण है।
MAC OS की परफॉरमेंस बहुत अच्छी और स्मूथ है। अगर हम विंडोज ओएस की बात करें तो यह मैक ओएस की तुलना में इतना अच्छा नहीं है।

मैक ऑपरेटिंग सिस्टम के फायदे

देखा जाए तो Mac ऑपरेटिंग सिस्टम के बहुत सारे फायदे हैं जो नीचे दिए गए हैं –

  • मैक ऑपरेटिंग सिस्टम किसी भी कार्य को अन्य ऑपरेटिंग सिस्टम से बेहतर करने की क्षमता रखता है।
  • Mac ऑपरेटिंग सिस्टम दूसरा सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाने वाला OS है लेकिन इसके एक्टिव यूजर्स कम हैं जिस वजह से इसमें वायरस अटैक बहुत कम होते हैं।
  • मैक ऑपरेटिंग सिस्टम में, हमें अन्य ओएस की तुलना में एक अच्छा ग्राहक समर्थन मिलता है क्योंकि ऐप्पल के पास कुशल इंजीनियर हैं जो मैक ओएस से संबंधित सभी प्रकार के मुद्दों को ठीक करने में मदद करते हैं।
  • MAC OS भी Apple के अन्य उत्पादों की तरह GUI पर आधारित है, जिसके कारण जब हम Apple के एक उत्पाद से दूसरे उत्पाद पर स्विच करते हैं तो हम सहज महसूस करते हैं।
  • MAC OS से जुड़े सभी डिवाइस में हार्डवेयर, सॉफ्टवेयर, ऑपरेटिंग सिस्टम सब Apple के ही होते हैं जिससे तीनों का इंटीग्रेशन इतना अच्छा होता है कि इसकी परफॉर्मेंस और बैटरी लाइफ काफी बेहतर हो जाती है।

मैक ऑपरेटिंग सिस्टम के नुकसान

Mac ऑपरेटिंग सिस्टम के कुछ नुकसान भी हैं जो नीचे दिए गए हैं –

  • ये कॉफी महँगी है हम सिर्फ और सिर्फ Apple के प्रोडक्ट्स में ही MAC OS चला सकते हैं और Apple के सारे प्रोडक्ट्स कॉफी से ज्यादा हैं जो एक आम यूजर नहीं खरीद सकता.
  • मैक ओएस के सक्रिय उपयोगकर्ता कम हैं जिसके कारण गेम डेवलपर्स विंडोज ओएस के लिए ही गेम बनाना पसंद करते हैं और मैक के ग्राफिक्स इतने अच्छे नहीं हैं कि वे हैवी गेम्स चला सकें।
  • मैक ऑपरेटिंग सिस्टम में हम हार्डवेयर कस्टमाइजेशन नहीं कर सकते क्योंकि इसके सभी हार्डवेयर पार्ट्स एक दूसरे से इंटीग्रेटेड होते हैं।
  • Mac ऑपरेटिंग सिस्टम में हमें कम पोर्ट देखने को मिलते हैं।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न)

मैक ओएस का फुल फॉर्म क्या होता है?

मैक ओएस का फुल फॉर्म “मैकिंटोश ऑपरेटिंग सिस्टम” हैं।

पहला मैकिंटोश कंप्यूटर कब जारी किया गया था?

पहला Macintosh कंप्यूटर 1984 में जारी किया गया था।

MAC OS में कौन सी प्रोग्रामिंग भाषा का प्रयोग किया जाता है?

MAC OS में प्रोग्रामिंग लैंग्वेज जैसे C, C++, स्विफ्ट, असेंबली लैंग्वेज, ऑब्जेक्टिव-सी आदि का इस्तेमाल किया गया है।

निष्कर्ष

अब हमने आपके साथ Mac ऑपरेटिंग सिस्टम से जुड़ी सभी जानकारी शेयर की है, जिसे पढ़कर आप समझ गए होंगे और समझ गए होंगे मैक ऑपरेटिंग सिस्टम क्या हैं (What is MAC OS) और उम्मीद है कि अब आपको Mac ऑपरेटिंग सिस्टम से जुड़ी सारी जानकारी मिल गई होगी।

यदि आपके मन में अभी भी कोई सवाल है और आपको यह लेख कैसा लगा, तो कृपया नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में हमें बताएं और इस लेख में दी गई मैक ओएस से संबंधित जानकारी को सोशल मीडिया जैसे फेसबुक, ट्विटर आदि पर साझा करें। .

Leave a Comment